Home
Mission
Features
Video Gallery
Monthly Photos
Specific Days (School Calender)
Principal's Desk
Our Strength
Contact- Us
IPKP Teacher's Training Division
 
 





 

 

 

 

 

             Hello IPKP Parents,

 This is one of my poem that i have penned down around the beautiful relationship of parent and a child

               मैं और मेरी माँ
              आजकल मम्मी रहती है, मेरी परेशान,

              कहती है, नटखट हो तुम पर हो मेरी जान l 
              कहती है, बात बात पे, बेहैस करना, तो कोई तुमसे सीखे, 
              मैं कहता हूँ, बात बात पें, नाराज़ होना तो कोई आपसे सीखे l 
              हर वक़्त होती है हमारी लड़ाई,
              कभी मेरी शरारतें, कभी व्यवहार, कभी पढाई l 
              हर वक़्त पड़ती है मुझे डाँट,
              ऊपर से गुस्सा, अन्दर से प्यार ऐसी है हमारी साँठ-गाँठl 
              जग में हो मेरा नाम, छुलू मैं ऊँचे शिखर,
              माँ को मेरी हर वक़्त, रहती है मेरी फिकर l 
              मेरी हर बातको अच्छी, चाहती है सुधार,
              माँ से बढ़कर, कौन करेगा मेरा उद्ददारl 

              तुझसे नाराज़ होकर नहीं कुछ पाऊँगा,
              आगे से अपनी गलती, जल्दी मान जाऊँगा l 
              आप भी करो गुस्सा कम, मम्मी मेरी जान,
              कम करूँगा बेहैस, कम करूँगा परेशान l

                              

              राधिका मल्होत्रा

 

             

 

 

              Principal IP KIDZ PLACE

                                                                   

 

                                                                                                                                                                  

             

 

 

 

 

 

 

 

 

 

                                                                                                                                                

            

 

 

 

 

Quality Business
Award 2012
Service Excellence
Award 2011
 
 
 
 
   
Copyrights 2005 ipkidzplace